Health

योग (Yoga Asanas)और उसके आसन के बारे में जानकारी

योग (Yoga) एक विशेष ध्यान और शारीरिक अभ्यास का अद्वितीय आद्यत्मिक शैली है, जो भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह शब्द संस्कृत शब्द “युज” से आया है, जिसका मतलब “एकता” या “योगदान” होता है। योग का मूल उद्देश्य मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को संतुलित रखना और आद्यात्मिक विकास को बढ़ावा देना है।

योग (Yoga asanas) करना हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा है और यह आपका तनाव दूर करता है और आपको शारीरिक रूप से स्वस्थ बनाता है।

योग के मुख्य आधार:

  1. आसन (Asanas): योग के आसन शारीरिक स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करते हैं। ये विभिन्न पोज़ और आसन होते हैं जो मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए काम आते हैं।
  2. प्राणायाम (Pranayama): प्राणायाम श्वास को नियंत्रित करने का अभ्यास है और विशेष तरीके से सांस को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह शांति और ध्यान को बढ़ावा देता है।
  3. ध्यान (Dhyana): ध्यान योग का आध्यात्मिक घटक है, जिसमें मन को एक ही स्थिति में स्थिर करने का प्रयास किया जाता है। यह मानसिक शांति और आद्यात्मिक विकास का माध्यम होता है।

योग (Yoga asanas) के फायदे:

  1. शारीरिक स्वास्थ्य: योग आसन शारीरिक स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करते हैं, जैसे कि लचीलापन, स्ट्रेंथ, और फिटनेस को बढ़ावा देते हैं।
  2. मानसिक स्वास्थ्य: योग मानसिक स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करता है, जैसे कि तनाव को कम करना, मानसिक शांति प्राप्त करना, और मन को स्थिर रखना।
  3. आद्यात्मिक विकास: योग आद्यात्मिक विकास को प्रोत्साहित करता है और आपको आत्मा के साथ जुड़ने में मदद करता है।
  4. दिल के स्वास्थ्य: प्राणायाम और ध्यान द्वारा योग दिल के स्वास्थ्य को सुधार सकता है और रक्तचाप को कम कर सकता है।
yoga asanas
yoga asanas

वजन घटाने के लिए सर्वोत्तम योगासन (Yoga asanas)

  1. त्रिकोणासन (Trikonasana):
    • इस आसन को करने के लिए, पैरों को दूसरे के पास रखें और अपने हाथों को सिर के साथ एक त्रिकोण की तरह लाएं।
    • इसके बाद, आपको दीर्घी विश्रांति करने के लिए दीर्घी बाल बनाना होगा।
    • त्रिकोणासन से पेट की चर्बी को कम करने में मदद मिलती है।
  2. पादहस्तासन (Padahastasana):
    • इस आसन को करने के लिए, आपको खड़े खड़े अपने पैरों को हिलाकर नीचे झुकना है ताकि आपके हाथ पैरों के पास पहुंच सकें।
    • इसके बाद, आपको धीरे से अपने हाथों को अपने पैरों की ओर ले जाना है।
  3. भुजंगासन (Bhujangasana):
    • इस आसन को करने के लिए, पेट के बल लेट जाएं और हाथों को छाती के नीचे रखें।
    • फिर, अपने सर्वों को ऊपर उठाएं, जिससे कि आपका ऊपरी शरीर बाहर उठ जाए।
    • इस आसन से पेट की चर्बी को कम करने में मदद मिलती है और पेट को सुलझाने में मदद करती है।
  4. पश्चिमोत्तानासन (Paschimottanasana):
    • इस आसन को करने के लिए, पैरों को आगे बढ़ाकर आपके पैरों की उंगलियों को पकड़ लें।
    • फिर, आपको अपने सर्वों को अपने पैरों की ओर झुकाना है।
    • यह आसन पेट की चर्बी को कम करने में मदद करता है और पूरे शरीर को संयमित रखता है।

आपको ध्यान देना चाहिए कि वजन कम करने के लिए केवल योग अनुभाग को बदलने से ही काम नहीं चलेगा। साथ ही, आपको सही आहार और नियमित व्यायाम की भी आवश्यकता होगी। इन आसनों को नियमित रूप से करने से आपके वजन कम करने में मदद मिल सकती है।

वजन बढ़ाने के लिए 5 yoga asanas

  1. वज्रासन (Vajrasana):
    • इस आसन को बैठकर करें, जिसमें आपके पैर वी-शेप में पीछे की ओर हों।
    • हाथों को जोड़कर नीचे झुकें और गुटनों को ज़मीन पर रखें।
    • यह आसन पाचन को सुधारने में मदद करता है और वजन बढ़ाने में मदद कर सकता है।
  2. भाद्रासन (Bhadrasana):
    • इस आसन को बैठकर करें, जिसमें आपके पैरों की ओर जोड़नीयों को एक साथ लाएं।
    • हाथों को पैरों के पास रखें और धीरे से नीचे झुकें।
    • यह आसन पेट को सुलझाने में मदद करता है और वजन बढ़ा सकता है।
  3. तदासन (Tadasana):
    • इस आसन को खड़े होकर करें, हाथों को ऊपर उठाकर और उंगलियों को सीधे करें।
    • सांस लेते समय ऊपर उठें और अपने शरीर को बढ़ाकर छोड़ें।
    • यह आसन शरीर को सुदृढ़ बनाने में मदद करता है और वजन बढ़ा सकता है।
  4. उत्तानपादासन (Uttanpadasana):
    • इस आसन को सीधे पैरों के साथ लेटकर करें।
    • हाथों को सर्वों के पास रखें।
    • पैरों को 45 डिग्री की दिशा में ऊपर उठाएं और धीरे से नीचे लाएं।
    • इस आसन से पेट को मजबूती मिलती है और वजन बढ़ सकता है।
  5. शवासन (Shavasana):
    • इस आसन को लेटकर करें, आपके पूरे शरीर को छोड़ दें और समय के साथ धीरे से सांस लें।
    • यह आसन तनाव को कम करने में मदद करता है और शारीरिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है, जिससे वजन बढ़ सकता है।

गर्दन दर्द के लिए प्रभावी योग आसन

Yoga


गर्दन दर्द के लिए सर्वश्रेष्ठ योग आसन – जीर्ण अनुभव के आधार पर

  1. भुजंगासन (Cobra Pose):
    • इस आसन को करने के लिए, पेट के बल लेट जाएं और हाथों को छाती के नीचे रखें।
    • फिर, आपको अपने सर्वों को ऊपर उठाएं, जिससे कि आपका ऊपरी शरीर बाहर उठ जाए।
    • इस आसन से गर्दन के दर्द को कम करने में मदद मिलती है।
  2. अर्ध मत्स्येंद्रासन (Half Fish Pose):
    • इस आसन को करने के लिए, आपको एक पैदल कुर्सी पर बैठ जाएं, पैरों को बैठक के साथ वी-शेप में रखें।
    • एक हाथ को आपके पीठ के पीछे रखें और उसे दूसरे हाथ से पकड़ें।
    • फिर, आपको सिर को धीरे से बाएं ओर झुकाना है।
    • इस आसन से गर्दन के दर्द को कम करने में मदद मिलती है।
  3. विपरीतकरणी (Legs Up the Wall Pose):
    • इस आसन को करने के लिए, आपको एक दीवार के पास बैठ जाना है और पैरों को दीवार के साथ ले जाना है।
    • फिर, पेट के बल लेट जाएं और पूरी ध्यान दें।
    • इस आसन से गर्दन और कंधों के दर्द को कम करने में मदद मिलती है।
  4. अर्ध चक्रासन (Half Wheel Pose):
    • इस आसन को करने के लिए, पेट के बल लेट जाएं और पैरों को घुटनों के पास बाध लें।
    • फिर, हाथों को सिर के साथ उठाएं और आपके पूरे शरीर को ऊपर उठाने का प्रयास करें।
  5. मर्जरी आसन (Cat-Cow Pose):
    • इस आसन को करने के लिए, चारपाई पर आने के बाद कामर को ऊपर की ओर इशारा करें (गाय की तरह) और सिर को ऊपर उठाएं।
    • फिर, कामर को नीचे की ओर झुकाने के बाद सिर को नीचे करें (खरगोश की तरह)।
    • इस आसन से गर्दन के दर्द को कम करने में मदद मिल सकती है और गर्दन को सुलझाने में मदद कर सकती है।

ध्यान दें कि योग (yoga asanas)का प्रैक्टिस सही तरीके से करने के लिए एक योग गुरु की मार्गदर्शन लें और सावधानी बरतें। यदि गर्दन दर्द या अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज की आवश्यकता हो, तो डॉक्टर की सलाह भी लें।

पैरों के दर्द को दूर करने के लिए योगासन (yoga asanas)

yoga
  1. वीरभद्रासन (योगी को कुर्सी आसन):
    • सबसे पहले, एक योग मैट पर बैठें और पैरों को सीधे आगे की ओर बढ़ाएं।
    • फिर, एक पैर को आगे की ओर बढ़ाकर उसका पूरा वजन पैर पर डालें, और दूसरे पैर की ऊंचाइयों को बराबर रखें।
    • धीरे-धीरे दोनों हाथों को उठाकर आसमान की ओर बढ़ाएं और पीठ को सीधा रखें।
    • इस स्थिति में 20-30 सेकंड तक रुकें, फिर धीरे-धीरे वापस आएं।
    • इस क्रिया को 2-3 बार प्राक्तिस करें।
  2. वृक्षासन:
    • योग मैट पर खड़े हों और ध्यान लगाएं।
    • एक पैर के बल पर खड़े होकर दूसरे पैर की ऊंचाइयों को अपने जांघ पर रखें।
    • दोनों हाथों को सिर के ऊपर उठाकर फिर से ध्यान में रहें और समय के साथ गहरा सांस लें।
    • इस स्थिति में 20-30 सेकंड रुकें, फिर सामान्य ध्यान में लौटें।
    • इस क्रिया को दोनों पैरों के साथ करें, 2-3 बार।
  3. सुखासन:
    • योग मैट पर बैठें और पैरों को सीधे सामने की ओर बढ़ाएं।
    • पैरों को समय-समय पर हिलाते रहें ताकि वे सुख से समर्थ हों।
    • ध्यान लगाने के बाद, पूरे शरीर को आराम से आराम दें और आराम से सांस लें।
    • इस स्थिति में 1-2 मिनट तक बैठें, फिर सामान्य ध्यान में लौटें।

ये योग आसन पैर के दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं, लेकिन सुनिश्चित हों कि आप इन्हें सही तरीके से करते हैं और योग गुरु की मार्गदर्शन में करें। यदि आपका दर्द जारी रहता है, तो कृपया एक चिकित्सक से सलाह लें।

घुटनों के दर्द के लिए योग आसन (yoga asnas)

Yoga
  1. उत्कटासन (कुर्सी आसन):
    • स्थिति: योग मैट पर खड़े हों और पैरों की दूरी शोल्डर चौड़ाई की हो।
    • अपने हाथों को आगे की ओर बढ़ाकर पूरी बढ़ाएं, जैसे कि आप कुर्सी पर बैठ रहे हैं।
    • धीरे-धीरे बैठने का प्रयास करें ताकि आपकी जांघ नीचे जाए, जैसे कि आप कुर्सी पर बैठते समय होता है।
    • इस स्थिति में 20-30 सेकंड तक बनाए रखें, फिर समय के साथ धीरे-धीरे वापस आएं।
    • इस क्रिया को 2-3 बार प्राक्तिस करें।
  2. बद्धकोणासन (बट्टेरफ्लाय आसन):
    • स्थिति: योग मैट पर बैठें और पैरों को धीरे-धीरे अपने पास की ओर खींचें, जैसे कि बट्टेरफ्लाय की पंखों की तरह।
    • घुटनों को धीरे-धीरे नीचे दबाएं, जब तक वे ज़मीन पर नहीं पहुँचते हैं, और पैरों को ज़मीन पर रखें।
    • इस स्थिति में 20-30 सेकंड तक बनाए रखें, फिर समय के साथ धीरे-धीरे वापस आएं।
    • इस क्रिया को 2-3 बार प्राक्तिस करें।
  3. वीरासन (वीर आसन):
    • स्थिति: योग मैट पर बैठें और एक पैर को आगे की ओर बढ़ाकर बाएं पैर के तलवे को दूसरे पैर के ऊपर रखें।
    • दोनों हाथों को पैरों के साथ जोड़ें और दिल से ध्यान लगाएं।
    • इस स्थिति में 20-30 सेकंड तक रुकें, फिर धीरे-धीरे वापस आएं।
    • इस क्रिया को दोनों पैरों के साथ करें, 2-3 बार।

ये योग आसन घुटनों के दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं, लेकिन सुनिश्चित हों कि आप इन्हें सही तरीके से करते हैं और योग गुरु की मार्गदर्शन में करें। यदि आप दर्द जारी रहता है, तो कृपया एक चिकित्सक से सलाह लें।

(yoga asanas)योग आसन विकिपीडिया

जी 20 दिल्ली न्यूज के लिए

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

INS Vikrant Exploring Education and Research at FRI Dehradun India’s defence export 2023 Symptoms of Hormonal Imbalance in Women Immunity Boosting Drinks – Easy HomeMade Kadhai Paneer Recipe 7 BEST STREET FOOD OF HARIDWAR THAT ARE WORTH A TRY TOP TRADING APPS English Grammar- 10 Best Ways To Learn Mastering Healthy Drink-Beetroot Juice Recipe